केंद्र के संकल्प से2030 में दुनिया की सबसे बड़ी तीसरी अर्थव्यवस्था बन जाएगा भारत:राजीव रंजन

पटना, सितंबर 28, 2018:  केंद्र के विकास कार्यों से 2030 तक भारत के दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की बात कहते हुए प्रदेश भाजपा प्रवक्ता सह पूर्व विधायक श्री राजीव रंजन ने कहा “ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश दिन दूनी रात चौगुनी गति से तरक्की कर रहा है, जिसकी पुष्टि आज विश्व की सारी प्रतिष्ठित एजेंसिया भी कर रही हैं. यह केंद्र सरकार की नीतियों का ही असर है कि अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर भारत नित नए रिकॉर्ड कायम कर रहा है. याद करें तो अभी हाल ही में फ्रांस को पछाड़ कर भारत विश्व की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बना है. पीएम मोदी की अगुवाई में भारत यहीं रुकने वाला नहीं है. एचएसबीसी होल्डिंग की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक भारत 2030 तक विश्व की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगा. एचएसबीसी की लॉन्ग टर्म रैंकिंग में भारत को आश्चर्यजनक रूप से सबसे ज्यादा ऊपर उठने वाले देशों में शामिल किया गया है. रिपोर्ट के अनुसार भारत 5.9 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था के साथ 2030 तक तीसरे स्थान पर पहुंच जाएगा. गौरतलब है कि इस वर्ष अप्रैल-जून तिमाही में भारत की अर्थव्यवस्था ने 8.2 फीसदी की दर से वृद्धि की है. पिछली तिमाही की तुलना में यह काफी तेज वृद्धि है और यह पिछले दो वर्षों में सबसे ज्यादा है. 2016 की पहली तिमाही के बाद से यह सबसे ज्यादा वृद्धि है. यहाँ बताते चलें कि भारत ने चीन की ग्रोथ रेट 6.8 फीसदी को जनवरी में पछाड़ दिया थाजो कि उस तिमाही में 7.7 फीसदी रही थी और आज 8.2 फीसदी की वृद्धि दर के साथ भारत दुनिया की सबसे तेजी से विकसित होती अर्थव्यवस्था के दर्जे को बरकरार रखे हुए है.”

श्री रंजन ने कहा “ पूर्व की सरकार से तुलना करें तो तब की सरकार आज के एनडीए सरकार के आगे कहीं नही ठहरती. यूपीए सरकार के अंतिम तीन सालों की अर्थव्यवस्था की गति को देखें तो ये 2011-12 में 6.7, 2012-13 में 4.5 और 2013-14 में 4.7 प्रतिशत थी. वहीं बीते तीन साल के मोदी सरकार के कार्यकाल पर गौर करें तो 2014-15 में 7.2, 2015-16में 7.6 थीवहीं 2016-17 में 7.1 है. जाहिर है बीते तीन सालों में जीडीपी ग्रोथ रेट से ज्यादा रही है. जबकि यूपीए के अंतिम तीन सालों के औसत जीडीपी ग्रोथ रेट 5.3 ही रही है. हकीकत में यूपीए को तो वर्तमान सरकार से सीख लेनी चाहिए कि देश को आगे बढ़ाते कैसे हैं.”

Facebook Comments