जार्डन की ओर रूख करने वाले भारतीय पर्यटकों की संख्या बढ़ी

नई दिल्ली: जार्डन जाने वाले भारतीय पर्यटकों की संख्या में साल 2016 में 18.40 फीसदी बढ़ोतरी हुई है। जार्डन पर्यटन बोर्ड (जेटीबी) के आंकड़ों से यह जानकारी मिली है।  बोर्ड ने कहा कि जार्डन आने वाले भारतीय पर्यटकों में अभूतपूर्व वृद्धि देखने को मिली है। अब जार्डन आने वाले भारतीय आगंतुक उसी दिन वापस कम लौट रहे हैं और उनमें 4.50 फीसदी की गिरावट आई है, जो दर्शाती है कि आगंतुक अब देश में अधिक समय व्यतीत कर रहे हैं। इसके अलावा, रात भर के लिए जार्डन जाने वाले भारतीय पर्यटकों की संख्या में 18.40 फीसदी की अभूतपूर्व वृद्धि देखने को मिली है।

बोर्ड ने बुधवार को एक बयान जारी कर कहा कि जेटीबी की भारत स्थित प्रतिनिधि कार्यालय ने जॉर्डन को साल 2019 तक भारतीय पर्यटकों के लिए `सर्वाधिक वांछनीय गंतव्य` बनाने का लक्ष्य रखा है।

जॉर्डन टूरिज्म बोर्ड के भारतीय कार्यालय के कंट्री मैनेजर आशिष तनेजा का कहना है, जॉर्डन अभी भी सबसे सुरक्षित स्थलों में से एक है। यह संस्कृति, इतिहास, भोजन, कल्याण, साहस और गर्मजोशी से भरे आतिथ्य के अद्वितीय मिश्रण के साथ एक बेहद मजबूत देश है जो भारत और दुनियाभर के पर्यटकों को आकर्षित करता रहा है।

उन्होंने कहा कि जॉर्डन परंपरा, संस्कृति और विकसित बुनियादी सुविधाओं के साथ विश्व स्तर की आतिथ्य सेवाओं का उत्कृष्ट मिश्रण प्रदान करता है। जॉर्डन के भोजन और मृत सागर, पेट्रा व वाडी रम महान अनुभव इसे अन्य देशों से अलग बनाता है। हम जॉर्डन में भारतीय पर्यटकों का स्वागत करते हैं और चाहते हैं कि वे यादगार अनुभवों के साथ भारत लौटें।

Facebook Comments