देशी-विदेशी मेहमानों के लिये कुम्भ में उच्च स्तरीय व्यवस्थायें,सुरक्षा के रहेंगे कडे़ इन्तज़ाम-रीता जोशी

लखनऊ:18 सितम्बर,प्रदेश की पर्यटन मंत्री प्रो0 रीता बहुगुणा जोशी ने गत 17 सितम्बर की रात्रि को होटल अशोका में अयोजित इण्डिया टूरिज़्म मार्ट-2018 को संबोधित करते हुये मार्ट में पधारे अतिथियों को 15 जनवरी 2019 से प्रयाग में शुरू होने जा रहे कुम्भ के लिये आमंत्रित किया। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा देश-विदेश से आने वाले अतिथियों एवं श्रद्धालुओं के आतिथ्य सत्कार के लिये युद्व स्तर पर उच्चकोटि की व्यवस्थायें की जा रहीं हैं। अत्याधुनिक विश्वस्तरीय सुविधायें प्रदान करने के लिये वर्तमान सरकार द्वारा पूर्व आवंटित बजट को चार गुना किया गया है। प्रो0 जोशी ने कहा कि हमारी ‘‘आतिथि देवो भवः‘‘ की प्राचीन संस्कृति, कुम्भ में की जा रही विश्व स्तरीय तैयारियाँ एवं प्रचार-प्रसार से इस बार कुम्भ में 15 करोड़ से अधिक श्रद्धालुओं के प्रयाग में आने की सम्भावना है। इसी मध्य वाराणसी में आयोजित हो रहे प्रवासी भारतीय दिवस में 6000 से अधिक प्रवासी भारतीय भी कुम्भ भ्रमण के लिए आयेंगे। 
पर्यटन मंत्री, उत्तर प्रदेश ने ‘‘उत्तर प्रदेश नहीं देखा तो इण्डिया नहीं देखा‘‘ का नारा देते हुये कहा कि केन्द्र सरकार के सहयोग से प्रदेश सरकार द्वारा कुम्भ-2019 में विश्व स्तरीय तैयारियाँ की जा रहीं हैं। देश विदेश से आने वाले मेहमानों, प्रवासी भारतीयों को किसी भी प्रकार की असुविधा का सामना नहीं करना पडेगा। प्रदेश सरकार द्वारा की गयी तैयारियों के बारे में विस्तृत जानकारी देते हुये उन्होंने बताया कि इस अद्वितीय कुम्भ मेले में हजारों की संख्या में लग्जरी विला से लेकर सुपर डीलक्स, डीलक्स एवं डोरमेट्री, स्विस काटेज़ की व्यवस्था की जायेगी। यदि श्रद्वालु चाहेंगे तो त्रिवेणी में स्नान करने के साथ-साथ क्रूज़ या हैलीकाप्टर के माध्यम से प्रयाग शहर के दर्शन की भी व्यवस्था रहेगी। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ जी के अनुरोध पर केंद्र सरकार ने प्रयाग और वाराणसी को जलमार्ग से भी जोडे जाने का निर्णय लिया है। इससे रोमांचक यात्रा कर जलमार्ग से पहँुचने वाले श्रद्धालु कुम्भ में आसानी से पहुँचेगे। 
प्रो0 जोशी ने बताया कि केन्द्र सरकार के सहयोग से 110 हैक्टेयर के क्षेत्र में ब्लाकवार चार से पाॅच हजार अतिआधुनिक स्विस काॅटेज का निर्माण कराया जा रहा है, जो डीलक्स, सुपर डीलक्स एवं विला के रूप में दिखाई देंगीं। उन्होंने बताया कि देश प्रदेश ही नहीं बल्कि अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर हजारों लोग शोध करते हैं कि आखिर इतने श्रद्धालुगण एक साथ कुम्भ में पहँुचते कैसे हैै। उनके लिये भी सुख सुविधाओं का ध्यान रखते हुये दुकानों, रेस्टोरेंट, सांस्कृतिक मंच, भारतीय व्यंजनों के साथ-साथ शरीर को स्वस्थ बनाये रखने के लिये योग केन्द्र भी स्थापित किये जायेंगे। उन्होंने बताया कि कुम्भ-2019 में सुरक्षा व्यवस्था के व्यापक स्तर पर अत्याधुनिक प्रबंध किये जायेंगे, इसके लिये सादा वर्दी में महिला पुलिस गश्त के साथ साथ 100 से अधिक थानों की स्थापना, वाॅच टावर की स्थापना एवं ड्रोन कैमरों की मदद से कुम्भ के चप्पे-चप्पे की निगरानी कराई जायेगी। 
कुम्भ-2019 में आध्यात्म, आधुनिक तकनीक, विज्ञान एवं संस्कृति का आपसी तालमेल भी देखने को मिलेगा। उन्होंने बताया कि मेले में क्रूज़, वाटर स्पोर्ट, हैलीकाॅप्टर राइड के साथ लेज़र शोज़ भी आयोजित कराये जायेंगे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जी की इच्छा है कि देश के कोने-कोने में बसे हर घर से दो चार व्यक्ति इस कुम्भ में अवश्य आयें, इसके लिये आवागमन के लिये भी प्रभावी तौर पर व्यवस्थायें की जा रहीं हैं। रेलवे विभाग द्वारा विशेष यात्री गाडियों का संचालन किया जायेगा। जिला स्तर पर जिलाधिकारियों को भी बेहतर बस संचालन के दिशा निर्देश निर्गत कर दिये गये हैं। उन्होंने कहा कि लगभग 75 राष्ट्रों के हमारे मेहमान इस कुम्भ में आयेंगे, इसके लिये विभिन्न राजनयिकों को भी आमंत्रित करने का निर्णय लिया गया है। इस बार प्रवासी भारतीय दिवस का आयोजन भी कुम्भ के मध्य प्रयाग शहर के नजदीक प्राचीन सांस्कृतिक नगरी काशी में किया जा रहा है। सभी 6000 प्रवासी भारतीयों को प्रयाग कुम्भ में आध्यात्मिक आनंन्द प्राप्त होेगा। 
टूरिज़्म मार्ट में केन्द्रीय मंत्री, पर्यटन अलफोन्स कन्नथानम एवं केन्द्रीय पर्यटन सचिव श्रीमती रश्मि वर्मा ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव पयर्टन, सूचना एवं धमार्थ कार्य अवनीश कुमार अवस्थी भारत सरकार एवं राज्य सरकार के अधिकारीगण, बडी संख्या में देशी-विदेशी पर्यटक भी उपस्थित रहे। विभिन्न प्रान्तों के लोक कलाकारों द्वारा विविध साॅस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किये गये। इण्डिया टूरिज़्म मार्ट में कुम्भ मेला पर पर्यटन विभाग उत्तर प्रदेश द्वारा तैयार की गयी डाक्यूमेन्ट्री भी दिखाई गई।

Facebook Comments