S-400 सौदा, ईरान से तेल आयात पर US से नहीं होंगे सम्बंध खराब

नई दिल्ली:  विदेश मंत्रालय ने कहा कि वाशिंगटन द्वारा मास्को और तेहरान पर प्रतिबंध लगाए जाने के के बाद रूस के साथ एस-400 मिसाइल सौदा और ईरान से कच्चा तेल आयात के सम्बंध में भारत की अमेरिका और अन्य सभी हितधारकों से बातचीत जारी है। मीडिया से बातचीत में विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि एस-400 पर मैं आपको बता सकता हूं कि हमारे राष्ट्रीय हित में तय हुआ है। कुमार ने कहा कि इस मसले पर हम अमेरिका से बातचीत कर रहे हैं और हमने विभिन्न स्तरों पर अमेरिका को अपनी स्थिति से अवगत कराया है।

इन वार्ताओं से हमारे उद्देश्यों, चिंताओं और हमारी संवदेनशीलता व आकांक्षाओं को लेकर अमेरिका के साथ बेहतर समझ बनी है। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के इसी महीने नई दिल्ली दौरे के दौरान एस-400 मिसाइल का सौदा पर हस्ताक्षर हुए। ट्रंप प्रशासन के काउंटरिंग अमेरिकाज एडवर्सरीज थ्रू सैंक्शन एक्ट (सीएएटीएसए) कानून के जनवरी में लागू होने के बाद एस-400 सौदे के मसले को लेकर काफी कयास लगाए जा रहे हैं। सीएएटीएस में रूस, ईरान और उत्तर कोरिया की कंपनियों के साथ कारोबार करने वाले देशों को निशाना बनाया गया

Festival_sale

Facebook Comments

BIGGEST SAVING TODAY


amazon_mobile_sale