निवेशक महाकुंभ और उत्तर प्रदेश के विकास की सम्भावना

कौन कहता है कि आसमाँ में सुराख हो नहीं सकता, एक पत्थर तो तबियत से उछालो दोस्तो इस बात को भाजपा नीत मोदी सरकार व योगी सरकार निरंतर चरितार्थ कर रही हैं | उत्तर प्रदेश में सत्ता परिवर्तन होते ही व्यवस्था परिवर्तन की प्रक्रिया स्वतः प्रारम्भ हो गयी | यह प्रक्रिया आरम्भ हुई क्योंकि अपार जनसमर्थन से निर्मित बहुमत पूर्ण सरकार का गठन हुआ और गठित सरकार ने स्पष्ट कार्ययोजना के आधार पर उत्तर प्रदेश के समग्र विकास का संकल्प लेकर प्रयास शुरू किये |
भाजपा नीत योगी सरकार ने सक्रिय व त्वरित प्रयास करके देश व विदेश के अधिकांश पूँजीपतियों से सम्पर्क किया तथा उन्हें अवसरों की असीम सम्भावनाओं से लबरेज उत्तर प्रदेश में व्यापक रूप से निवेश के लिए आमंत्रित किया | पिछले एक वर्ष में उत्तर प्रदेश में प्रशासकीय व्यवस्था, अराजकता अपराध पर नियंत्रण,  कार्यकारी गतिशीलता ,  पारदर्शिता में वृद्धि ,  भ्रष्टाचार में कमी , आधारभूत संरचनात्मक विकास की दिशा में उत्तरोत्तर प्रगति हुई | इससे उद्योग जगत के लोगों में अपनी पूँजी के उत्तर प्रदेश में निवेश को लेकर विश्वास बढ़ा है | भाजपा नीत योगी सरकार यह उद्योगपतियों का विश्वास जीतने में सफल रही |

उत्तर प्रदेश में निवेश के व्यापक अवसर हैं | उर्जा,  स्वास्थ्य,  शिक्षा, कृषि,  नवीनीकरण ऊर्जा,  लघु उद्योग, खाद्य प्रसंस्करण, पर्यटन, उड्डयन, यातायात,  डेयरी,  मत्स्य,  पोल्ट्री आदि विभिन्न क्षेत्रों में निवेश के अनेकानेक अवसर उपलब्ध हैं | भाजपा नीत योगी सरकार ने निवेश को विकेन्द्रीकृत करके उत्तर प्रदेश के समावेशी विकास को सुनिश्चित करने का संकल्प लिया है | निवेश के विकेन्द्रीकरण का अभिनव व दूरदर्शी नियोजन है – एक जिला एक उत्पाद | भाजपा नीत योगी सरकार उत्तर प्रदेश के प्रत्येक जिले के वैशिष्ट्य को अंतर्राष्ट्रीय पटल पर सम्मानित कराने व पहचान दिलाने को प्रयासरत हैं | इस प्रयास से उत्तर प्रदेश के सभी क्षेत्रों का समुचित विकास होगा और बदहाली व बेहाली से जनता को निजात मिलेगी | भाजपा नीत योगी सरकार ने 1045 एमओयू के माध्यम से 428000 करोड़ के निवेश का लक्ष्य तय किया है | यह पूर्ववर्ती जातिवादी वंशवादी सत्तावादी सरकारों के लक्ष्य कई गुना अधिक है |

यह आधिक्य प्रमाणित करता है कि सत्ता के परिवर्तन से ही व्यवस्था परिवर्तन हो गया है | पूर्ववर्ती सरकारों की उपेक्षा एवं असंतुलित नीतियों के परिणाम के कारण ही उत्तर प्रदेश का बुन्देलखंड,  पूर्वांचल, मध्यांचल विकास से अछूता रहा है और इन क्षेत्रों से लाखों की संख्या में पलायन हुये | खाद्य प्रसंस्करण,  सौर ऊर्जा,  डिफेन्स कॉरीडोर , कृषि व पर्यटन जैसे निवेश के क्षेत्र विकास की असीम सम्भावनाओं के द्वार खोलने में सक्षम हैं साथ ही साथ पलायन को रोककर घर के करीब ही रोजगार के अवसर सृजित करने में समर्थ हैं | विकास की दिशा और दशा सुनिश्चित करने के लिए भाजपा नीत केन्द्र की मोदी सरकार और उत्तर प्रदेश की योगी सरकार हृदय से बधाई की पात्र है |

वन्दनम अभिनन्दनम

आलोक कुमार पाण्डेय
शोध एवं नीति विषयक विभाग
भाजपा उत्तर प्रदेश
9450223220

Facebook Comments