ये चुप्पी भी चुगली कर रही है..

लखनऊ:  भाजपा नेता कुमार अशोक पांडेय

जलियांवाला बाग हत्याकांड के समय पंजाब के गवर्नर जनरल रहे Michael O’Dwyer को लंदन जाकर गोली मारने वाले शहीद सरदार उधम सिंह के पोते ने कर्ज़ से परेशान होकर पंजाब में आत्महत्या कर ली।
अब चूंकि पंजाब कांग्रेस शासित राज्य है इसलिये मीडिया और राहुल गांधी चुप।

एकदम चुप।

देश के लिए मर मिटने वाले लोगों कि सिर्फ एक ही जाति होती है और वो होती है “शहीद”, और इस जाति में विरले लोग ही शुमार होते हैं। लेकिन कांग्रेस ने देश में जिस तरह से जातिवाद का ज़हर घोला है और राहुल गांधी अपने कुकर्मी साथियों के साथ मिलकर जिस तरह से बड़ी मुश्किल से एक हुए हिंदुओं की एकता को सत्ता पाने की चाह में तोड़ने का षडयंत्र पर षडयंत्र कर रहा है, ऐसी स्थिति में बताना अनिवार्य हो रहा हैं कि शहीद उधम सिंह एक दलित थे।
इसके वावजूद भी भीम आर्मी चुप,
जिग्नेश मेवानी चुप,
प्रकाश अम्बेडकर चुप,
मायावी मायावती चुप,
अठावले चुप,
उदितराज चुप..
और तो और हर वक़्त “कौन जात हो” पूछने वाला छेनूआ भी चुप है।
जानते हैं क्यो चुप हैं ये सब?
पहली बात, ये सब चुप इसलिये हैं क्योंकि एक देशभक्त दलित का पोता मरा हैं, किसी गद्दार का पोता नही, इसलिए सनसनी नही बन सकती,
और दूसरी बात ये है कि इन सबके मालिक राहुल गांधी की निजी कंपनी यानी कांग्रेस की ही सरकार है पंजाब में। नहीं तो अब तक तो राहुल गांधी खुद गिद्ध बनकर वहाँ पहुंच चुके होते, शायद राहुल भी शहीद उधम सिंह के पोते को कोस रहे होंगे कि, वो बीजेपी शासित राज्य में क्यूँ नही मरे!

ख़्वामखाह एक राजनीतिक मुद्दा हाथ से निकल गया उस बिचारे के!!

 

 

Facebook Comments