देश के किसानों के लिए अच्छी खबर, इस साल मॉनसून सामान्य रहने के आसार

नई दिल्ली:  देश के किसानों के लिए अच्छी खबर है कि इस साल मॉनसून सीजन में अच्छी बरसात होने की संभावना जताई जा रही है। मॉनसून बेहतर रहने से खरीफ फसलों की बुआई अच्छी हो सकती है। मौसम संबंधी पूर्वानुमान जारी करने वाली निजी कंपनी स्काइमेट ने बुधवार को इस साल के मॉनसून का पूर्वानुमान जारी करते हुए कहा कि 2018 में मॉनूसन सामान्य रह सकता है। स्काइमेट के अनुसार, इस साल सूखा पडऩे की संभावना शून्य फीसदी है। इसके बारे में और पढ़े..

बजट 2018 : किसानों को तोहफा, कर्ज के लिए 11000 करोड का फंड

नई दिल्ली। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने गुरुवार को लोकसभा में आम बजट पेश कर रहे है। 2019 लोकसभा चुनाव से पहले ये मोदी सरकार का आखिरी पूर्ण बजट है। जीएसटी लागू होने के बाद ये पहला बजट है। अरुण जेटली ने किसानों को बडा तोहफा देते हुए हुए कर्ज के लिए 11000 करोड का फंड देने का ऐलान किया है।  इसके बारे में और पढ़े..

पाले और शीतलहर से फसलों का बचाव के लिए वैज्ञानिकों ने दी सलाह

 लखनऊः  कृषि विभाग के वैज्ञानिकों ने किसानों को सलाह दी है कि  इस समय तापमान काफी नीचे गिर रहा है, सर्द हवाओं के कारण ठंडक और बढ़ती जा रही है जिसके कारण पाला गिरने की संभावना बढ़ रही है। पाला तथा शीतलहर से सर्दी के मौसम में सभी फसलों को थोड़ा या ज्यादा नुकसान होता है। टमाटर, आलू, मिर्च, बैंगन, भिण्डी आदि सब्जियों तथा पपीता आम, केले के पौघों एवं मटर, चना, अलसी, जीरा, धनिया, सौंफ, अफीम आदि की फसलों में इसके कारण 80-90 प्रतिशत तक क्षति हो जाती है। अरहर में 70 प्रतिशत, गन्ने में 50 प्रतिषत, गेहूॅ और जौं में 10-20 प्रतिषत तक मौसम की सर्द मार का प्रभाव गम्भीर स्थितियों में देखा गया है।

इसके बारे में और पढ़े..

गन्ना किसानों की समस्याओं का होगा समयबद्ध निस्तारण सुनिश्चित

लखनऊ :  प्रदेश के गन्ना एवं चीनी, आयुक्त संजय भूसरेड्डी ने कहा है कि राज्य सरकार भ्रष्टाचार के संबंध में जीरो टाॅलरेन्स नीति सख्ती से अपना रही है। गन्ना एवं चीनी विभाग के अधिकारी हर स्तर पर भ्रष्टचार नियंत्रण हेतु पैनी निगाह रखें। गन्ना किसानों तथा सेवानिवृत्त कर्मचारियों के साथ हो रहे भ्रष्टाचार की शिकायतों का तत्श्परता से निस्तारण किया जाय। उन्होंने यह कहा कि भ्रष्टाचार की शिकायत मिलने पर इसकी गोपनीय जांच कराई जाय और इसमें संल्पित लोगों पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाय।

इसके बारे में और पढ़े..

किसानों को कृषि की आधुनिक तकनीकों से प्रशिक्षित किया जाएगा: सूर्य प्रताप

लखनऊः  उत्तर प्रदेश के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने कहा है कि द मिलियन फारमर्स स्कूल (किसान पाठशाला) के अंतर्गत 10 लाख से अधिक कृषकों को कृषि की आधुनिकतम तकनीकों से प्रशिक्षित किया जाएगा। इसके लिए 05 दिसम्बर  से पहला पांच दिवसीय सत्र आयोजित किया जा रहा है, जिसमें 15440 ग्राम सभाओं का चयन कर लिया गया है। शाही कृषि भवन स्थित सभागर में पत्रकारों को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा 05 दिसम्बर को प्रदेश के समस्त जनपदों में कार्यक्रम आयोजित कर कृषकों को मृदा स्वास्थ्य की स्थिति से भिज्ञ कराते हुए मृदा स्वास्थ्य बढ़ाने हेतु वैज्ञानिक एवं प्रगतिशील किसानों के संवाद कराये जाने, जैविक खेती को बढ़ावा देने, कार्बनिक खादों के प्रयोग, हरी खाद के प्रयोग के साथ-साथ दलहनी फसलों के क्षेत्राच्छादन बढ़ाने हेतु किसानों को प्रेरित करने का प्रयास किया जा रहा है।

इसके बारे में और पढ़े..

कृषकों की आमदनी दुगनी करने के लिए कार्यशाला का आयोजन

लखनऊ:  प्रधानमंत्री की महत्वाकांक्षी योजना ’’कृषकों की आय दुगनी’’ करने एवं उ0प्र0 भूमि सुधार निगम को उत्कृष्ट केन्द्र के रूप मे ंविकसित करने के उद्देश्य से उत्तर प्रदेश भूमि सुधार निगम मुख्यालय पर एक कार्यशाला का आयोजन किया गया।  कार्यशाला का शुभारम्भ उ0प्र0 भूमि सुधार निगम के प्रबन्ध निदेशक अजय यादव ने दीप प्रज्जवलित कर किया।  यादव ने कहा कि उ0प्र0 में जलवायु और प्राकृतिक संसाधनों को देखते हुए बहुत कुछ किया जा सकता है। श्री यादव ने कहा कि किसान ही सही मायने में वैज्ञानिक हैं, वही खेती में प्रयोग करता है। कार्यशाला में उन्होनें उ0प्र0 भूमि सुधार निगम को उत्कृष्ट केन्द्र के रूप में विकसित करने के बारे में संकल्प दोहराया। इसके बारे में और पढ़े..

कृषकों की आर्थिक स्थिति में सुधार होगा: अध्यक्ष विधान सभा दीक्षित

लखनऊः  लघु एवं सीमांत किसानों द्वारा 31 मार्च 2016 तक लिए गए फसली ऋण में वर्ष 2016-17 में जमा की गई धनराशि  को घटाते हुए 31 मार्च 2017 तक बकाया धनराशि का एक लाख की सीमा तक ऋण मोचन व्यवसायिक ग्रामीण व सहकारी बैंकों से दिए गए फसली ऋण मोचन योजना के अंतर्गत नवीन मंडी स्थल उन्नाव में जनपद स्तरीय प्रमाण पत्र वितरण कार्यक्रम एवं उत्तर प्रदेश सरकार की फसल ऋण मोचन योजना के अंतर्गत जनपद स्तरीय प्रमाण पत्र वितरण का कार्यक्रम आयोजित किया गया।  इसके बारे में और पढ़े..

मध्यम गहरी बोरिंग योजना के लिए 1854.32 लाख रुपये स्वीकृत

लखनऊ: प्रदेश शासन ने किसानों के लिए चलाई जा रही एल्यूवियम क्षेत्रों में मध्यम गहराई के नलकूपों के निर्माण योजना के लिए वर्तमान वित्तीय वर्ष में 18 करोड़ 54 लाख 32 हजार रुपये की धनराशि स्वीकृत की है। इस सम्बंध में लघु सिंचाई विभाग द्वारा आवश्यक आदेश जारी कर दिए गए हैं। राज्य सरकार द्वारा किसानों के हित में सिंचाई सुविधाओं के हेतु विभिन्न योजनाएं संचालित की जा रही है। उसमें मध्यम गहरी बोरिंग योजना प्रदेश के ऐसे क्षेत्र विशेष में प्रभावी है, जहां 31-60 मीटर तक की गहराई में भूजल स्रोत उपलब्ध है। इसके बारे में और पढ़े..

टीम भावना से काम करें उद्यान विभाग के अधिकारी/कर्मचारी : दारा सिंह

लखनऊ : किसानों तक पहुँच सरकार की प्राथमिकता है। सरकार की कोशिश है कि सारी व्यवस्था को आॅनलाइन कर दिया जाय। अधिकारियों का दायित्व है कि सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं का प्रचार-प्रसार करे, किसानों तक योजनाओं का लाभ पहुँचाना सुनिश्चित करे। किसानों में झिझक है, अधिकारियों का दायित्व है कि किसानों में व्याप्त झिझक को दूर करे। इसके बारे में और पढ़े..

निःशुल्क बोरिंग योजना हेतु 2265.35 लाख रुपये स्वीकृत

लखनऊ:  उत्तर प्रदेश शासन ने लघु एवं सीमान्त कृषकों को कृषि उत्पादन हेतु सहायता (निःशुल्क बोरिंग योजना) के अन्तर्गत सामान्य कृषकों के लिए 22 करोड़ 65 लाख 35 हजार रुपये की धनराशि स्वीकृत की है। इस धनराशि का उपयोग योजनान्तर्गत पात्र कृषकों को अनुदान की सुविधा उपलब्ध कराकर व तकनीकी मार्गदर्शन देकर निजी लघु सिंचाई संसाधन उपलब्ध कराने में किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि इस योजना हेतु 38.83 करोड़ रुपये की धनराशि का प्राविधान किया गया है। इसके बारे में और पढ़े..

« Older Entries