सुकमा में सुरक्षा बल और नक्सलियों के बीच मुठभेड़, एक जवान शहीद

नई दिल्ली: छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में शुक्रवार को सुरक्षा बलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई जिसमें सेना का एक जवान शहीद हो गया। सेना ने नक्सलियों के खिलाफ 212 बटालियन और 208 कोबरा बटालियन के साथ किस्तरम कैंप के पास घेराबंदी करके एक संयुक्त अभियान चलाया था। इसके बारे में और पढ़े..

‘आयुष्मान’ भारत योजना का शुभारंभ, कहा- बाबा साहेब की वजह से हूं PM: मोदी

बीजापुर:  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को छत्तीसगढ़ के बीजापुर में आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत की है। पीएम मोदी ने यहां एक आदिवासी महिला को एक चप्पल जोडी भेंट की। उन्होंने सभा में उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि 14 अप्रैल का आज का दिन देश के सवा सौ करोड़ लोगों के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। आज भारत रत्न बाबा साहब भीमराव अंबेडकर की जन्म जयंती है। इसके बारे में और पढ़े..

छत्तीसगढ़ : PM मोदी के दौरे से पहले सीआरपीएफ कैंप पर नक्सली हमला

रायपुर:  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दौरे से ठीक पहले आज छत्तीसगढ़ के दोरनापाल में नक्सलियों ने हमला किया है। नक्सलियों ने यह हमला केंद्रीय रिजर्व पुलिस फोर्स (सीआरपीएफ) कैंप पर किया है। इस हमले में नक्सलियों ने दो बैरकों को नष्ट कर दिया है। बताया जा रहा है कि पीएम के दौरे से ठीक पहले नक्सलियों ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराने के लिए इस वारदात को अंजाम दिया है। इसके बारे में और पढ़े..

PM मोदी के छत्तीसगढ़ दौरे से पहले नक्सलियों ने जारी किया प्रेस नोट

रायपुरः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 14 अप्रैल को छतीसगढ़ दौरे पर आ रहे हैं लेकिन उससे पहले ही नक्सलियों ने प्रैस नोट जारी कर राज्य सरकार और प्रशासनिक अधिकारियों की चिंता बढ़ा दी है। नक्सलियों ने प्रेस नोट में लिखा कि 2019 और 2022 तक नक्सलवाद खत्म करने का सरकार का दावा खोखला…लगातार मिल रही है माओवादियों को सफलता। इसके बारे में और पढ़े..

विपक्ष का क्षेत्रीय दलों से गठजोड़ पीएम मोदी का विकल्प नहीं : रमन सिंह

रायपुर:  छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह का कहना है कि छोटे क्षेत्रीय दलों के समर्थन से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का राष्ट्रीय विकल्प नहीं हासिल किया जा सकता। रमन का मानना है कि विपक्ष का कोई भी गठजोड़ अंतर्निहित विरोधाभासों के कारण खुद ही टूट जाएगा। उन्होंने साथ ही कहा कि कुछ संसदीय उपचुनाव हारने से भारतीय जनता पार्टी के अगले साल लोकसभा चुनाव जीतने की संभावना पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा। भाजपा के सबसे लंबे कार्यकाल वाला मुख्यमंत्री सिंह ने आईएएनएस से एक साक्षात्कार में कहा, ‘‘एक समय इंदिरा (गांधी) बनाम सभी थे, और अब मोदीजी बनाम सभी हैं।

यह मोदीजी की बढ़ती लोकप्रियता का नतीजा है। कुछ छोटी पार्टियां उन्हें रोकने के प्रयास में ध्रुवीकरण कर सकती हैं, लेकिन वे सफल नहीं हो पाएंगी।’’ उन्होंने हैरानी जताई कि कांग्रेस उत्तर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और तमिलनाडु समेत कई राज्यों में सत्ता में नहीं है, फिर वे 2019 में सत्ता में लौटने का सपना कैसे देख रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘‘उन्हें समर्थन कहां से हासिल होगा। छोटे क्षेत्रीय समूहों के समर्थन से कभी राष्ट्रीय विकल्प नहीं हासिल किया जा सकता।

ये पार्टियां मोदीजी की लोकप्रियता के कारण एकसाथ आ रही हैं। इतिहास देखें, वे कभी एकजुट नहीं रह सकते।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ममता बनर्जी (पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री) राष्ट्रीय स्तर पर कांग्रेस की दोस्त और राज्य स्तर पर दुश्मन कैसे हो सकती हैं। यह नहीं चलने वाला।’’ वर्ष 2003 से राज्य की सत्ता पर आसीन मुख्यमंत्री ने कहा कि पांच राज्य जीतने के बाद कुछ उपचुनावों में हार को मोदी विरोधी लहर नहीं कहा जा सकता। उन्होंने कहा, ‘‘हमने वे राज्य जीते हैं, जहां हमारी कोई स्थिति नहीं थी। हालांकि हम गोरखपुर और फूलपुर उपचुनाव हार गए, लेकिन हमने पिछले चार सालों में सभी प्रमुख चुनाव जीते हैं। उपचुनाव के नतीजे लोगों की तात्कालिक प्रतिक्रिया है।

इसका मोदीजी के प्रभाव पर कोई असर नहीं होगा। हम मोदीजी के कारण ही अधिकांश राज्यों में सत्ता में हैं।’’ सिंह ने दावा किया कि उनकी सरकार के खिलाफ कोई विरोधी लहर नहीं है। उन्होंने कहा कि अगर ऐसा है तो भी वह आगामी विधानसभा चुनाव से पहले इससे निपट लेंगे। फिर से सत्ता में लौटने का विश्वास जताते हुए उन्होंने कहा कि एक राष्ट्रीय दल होने के नाते कांग्रेस भाजपा की मुख्य प्रतिद्वंद्वी है। लेकिन उन्होंने साथ ही कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री और नवगठित छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस (सीजेएस) के अध्यक्ष अजित जोगी चुनाव में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। उन्होंने कहा, ‘‘अजित जोगी की मौजूदगी का खासा प्रभाव होगा। उन्हें कमतर नहीं आंका जा सकता।

अगर कांग्रेस के वोट बैंक में विभाजन होगा, तो हमें प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष तौर पर लाभ होगा।’’ यह पूछे जाने पर कि क्या कांग्रेस का जोगी के साथ गठजोड़ चुनाव में उनकी संभावना को नुकसान पहुंचा सकता है? रमन ने कहा, ‘‘हम उनका मुकाबला तब भी कर चुके हैं, जब उन्होंने एकजुट होकर चुनाव लड़ा था और तब भी जब उन्होंने अकेले लड़ा। लेकिन जब उन्होंने अलग-अलग चुनाव लड़ा, तब हमें ज्यादा फायदा हुआ।’’ अपनी सरकार की प्रमुख उपलब्धियां गिनाते हुए उन्होंने कहा, ‘‘जब 2003 में मैंने मुख्यमंत्री पद संभाला था, तो बिजली नहीं थी, सडक़ें नहीं थीं और पीने का पानी भी नहीं था। बुनियादी ढांचा भी नहीं था और पूरी तरह अव्यवस्था की स्थिति थी। लोग देश के अन्य हिस्सों में पलायन करने पर मजबूर थे। भूख से मौतें हो रही थीं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘आज आप देख सकते हैं कि 100 फीसदी घरों में बिजली आपूर्ति है। हमने पूरे राज्य में सडक़ों का जाल बिछा दिया है।

खाद्य सुरक्षा योजनाओं के माध्यम से हमने भूख के कारण होने वाली मौतों पर लगाम लगा दिया है। हम छत्तीसगढ़ को कुपोषण मुक्त राज्य बनाने में भी सफल हुए हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम स्मार्ट कार्ड की तरह स्वास्थ्य योजनाओं के तहत हर व्यक्ति को 50,000 रुपये दे रहे हैं। हमने छह लाख परिवारों को घर और 35 लाख परिवारों को गैस सिलिंडर दिए हैं।

हमने कामगारों के कौशल विकास के लिए कानून बनाया है। वास्तव में मेरे पूरे कार्यकाल में हमने हमारे नागरिकों को सर्वश्रेष्ठ देने का प्रयास किया है।’’ राष्ट्रीय राजनीति में उनकी भूमिका के सवाल पर आयुर्वेदिक चिकित्सक से राजनेता बने सिंह ने कहा कि छत्तीसगढ़ हमेशा से उनकी प्राथमिकता में रहा है, लेकिन पार्टी अगर उन्हें केंद्र में भेजने का फैसला करती है, तो वह पार्टी के फैसले का सम्मान करेंगे।

–आईएएनएस

शादी में आई युवती को लेकर दूल्हा फरार, दुल्हन करती रही इंतजार

छत्तीसगढ़ में जशपुर जिले में दुल्हन सज-धज के शादी के मंडप में दूल्हे का इंतजार करती रही लेकिन वह अपनी प्रेमिका के साथ फरार हो गया। दूल्हा जिस लड़की के साथ भागा वह उसकी शादी में मेहमान बनकर आई थी। हैरानी की बात है कि मेहमानों और युवती के परिवार को इस बात की भनक तक नहीं लगी। पुलिस उन दोनों को तलाश कर रही है।  इसके बारे में और पढ़े..

स्वच्छता दूत कुंवर बाई का निधन, PM मोदी ने छुए थे इनके पैर

छत्तीसगढ़ में स्वच्छ भारत ​की मिसाल पेश करने वाली कुंवर बाई का शुक्रवार को निधन हो गया। 106 साल की कुंवर बाई का आखिरी वक्‍त में ब्रेन ने काम करना बंद कर दिया था। उन्हे रायपुर के अंबेडकर अस्पताल ले जाया लाया गया जहां उन्होंने अपनी आखिरी सांस ली। स्वच्छता दूत कही जाने वाली कुंवर बाई ने साल 2016 में अपनी बकरी बेचकर शौचालय बना देश को स्वच्छता का पैगाम दिया था। इस समर्पण को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने एक कार्यक्रम में उनके पैर छूए थे।  इसके बारे में और पढ़े..

छत्तीसगढ़ : नक्सलियों के IED ब्लास्ट में DRG का जवान शहीद

रायपुर: छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले में नक्सलियों के आईईडी ब्लास्ट में डिस्ट्रिक्ट रिजर्व गार्ड यानी डीआरजी का एक जवान शहीद हो गया। अधिकारियों ने आज रविवार को इस घटना की पुष्टि की है। एक वरिष्ट पुलिस अधिकारी ने कहा है कि ब्लास्ट के समय डीआरजी की टीम तिप्पापुरम के नजदीक जंगल में इलाके में गश्त ऑपरेशन कर रही थी। तेलंगाना सीमा के नजदीक जंगल में नक्सलियों के लगाए गए आईईडी पर डीआरजी के असिस्टेंट कान्सटेबल के पैर रखते ही ब्लास्ट कर गया। इसके बारे में और पढ़े..

छत्तीसगढ़ बजट 2018 : डॉ. रमन सिंह ने किसानों के लिए खोला खजाना

रायपुर:  मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने शनिवार को छत्तीसगढ़ के वित्तीय वर्ष 2018-2019 का बजट पेश किया। मुख्यमंत्री ने बजट पेश करते हुए संकेत दिए कि यह बजट सबके लिए राहत और खुशियों की सौगात लेकर आएगा। लेकिन, बजट भाषण के दौरान सीएम रमन सिंह ने शिक्षाकर्मियों को कोई राहत नहीं दी है। वहीं, बजट में रमन सिंह सरकार ने किसानो के लिए राज्य सरकार का खजाना खोल दिया है। इस बजट में कृषि क्षेत्र के लिए 13480 करोड़ रुपए का बजट आवंटित किया गया है, जोकि पिछले वर्ष की बजट की तुलना में 29 फीसदी अधिक है। इसके बारे में और पढ़े..

छत्तीसगढ़ विधानसभा में 10 फरवरी को पेश होगा बजट

रायपुर:  छत्तीसगढ़ विधानसभा के 5 फरवरी से शुरू हो रहे बजट सत्र में इस वर्ष तीन विधेयक पेश होंगे। सरकार 10 फरवरी को सदन में बजट पेश करेगी और बजट पर चर्चा 12 व 13 फरवरी को होगी।  सत्र के पहले दिन राज्यपाल के अभिभाषण से इसकी शुरुआत होगी। अभिभाषण के बाद कृतज्ञता प्रस्ताव लाया जाएगा, फिर सदन दिनभर के लिए स्थगित हो जाएगी। विधानसभा अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल ने यह जानकारी रविवार को दी। इसके बारे में और पढ़े..

« Older Entries