प्रमुख सचिव संस्कृति ने पांच दिवसीय भारत-श्रीलंका रामायण चित्रकला शिविर का शुभारम्भ किया

लखनऊ: 31 अक्टूबर, प्रदेश के संस्कृति विभाग द्वारा भारत-श्रीलंका रामायण चित्रकला रचनाकार शिविर का आयोजन राज्य ललित कला अकादमी में 31 अक्टूबर, से 04 नवम्बर, 2018 तक किया जा रहा है। इसका औपचारिक शुभारम्भ आज मुख्य अतिथि श्री प्रमुख सचिव, संस्कृति जितेन्द्र कुमार, द्वारा किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता राज्य ललित कला अकादमी के अध्यक्ष डाॅ0 राजेन्द्र सिंह पुण्ढीर द्वारा की गई।
रचनाकार शिविर में श्रीलंका के 5 कलाकार जिसमें श्री डी. एम. आर. दलपितिया, श्री संदथाराका अबेसिंघे, श्री के. एम. थरंगा, सुश्री कल्पनी, एवं सुश्री गयाशा रूवनपेथिराना प्रतिभाग कर रहे हैं। भारत के 5 कलाकार जिसमें श्री एन. के. मिश्रा-गाजियाबाद, प्रो0 डी0 पी0 मोहन्ती-वाराणसी, डाॅ0 सविता नाग-मेरठ, श्री राजेन्द्र प्रसाद-लखनऊ एवं श्री परमात्मा प्रसाद श्रीवास्तव-लखनऊ (कुल 10 कलाकार) प्रतिभाग कर रहे हैं। 10 कलाकारों द्वारा 04 नवम्बर, 2018 तक दो-दो रामायण पर आधारित चित्रों का सृजन किया जायेगा।
इसी अवसर पर रामायण पर आधारित एक अंतर्राष्ट्रीय कार्यशाला का भी शुभारम्भ किया गया। इस कार्यशाला में प्रदेश के 10 कलाकार प्रतिभाग कर रहे हैं। प्रतिभागी कलाकार श्री राजकुमार सिंह-कानपुर, सुश्री राज किशोरी सिंह-कानपुर, डाॅ0 कुमुदबाला-कानपुर, श्री अखिलेख श्रीवास्तव-कानपुर, श्रीमती मीनेश गुप्ता-कानपुर, श्री अशोक वर्मा-कानपुर, श्री प्रज्जवल पुण्ढीर-बरेली, डाॅ0 सत्या सिंह-लखनऊ, श्रीमती रचना गुप्ता-लखनऊ एवं श्रीमती प्रीति चतुर्वेदी-लखनऊ शामिल हैं। इन कलाकारों को शिविर के कलाकारों से कला सम्बन्धित कई बारीकियाँ सीखने का अवसर कार्यशाला के माध्यम से प्राप्त होगा। कार्यशाला के कलाकारों के द्वारा भी एक-एक चित्र का सृजन कार्यशाला अवधि में किया जायेगा।
रामायण पर आधारित इस चित्रकार शिविर एवं कार्यशाला में लगभग 30 चित्रों का सृजन 04 नवम्बर, 2018 तक किया जायेगा। इन चित्रों की एक भव्य प्रदर्शनी का आयोजन दीपोत्सव के अवसर पर अयोध्या में 06 नवम्बर, 2018 को किया जायेगा।
शिविर एवं कार्यशाला के शुभारम्भ अवसर पर प्रतिभागी कलाकारों के अतिरिक्त राज्य ललित कला अकादमी के उपाध्यक्ष, श्री सीताराम कश्यप, उ0प्र0 संगीत नाटक अकादमी के उपसभापति डाॅ0 धन्नूलाल गौतम, श्रीलंका के कार्यक्रम कोआर्डिनेटर श्री जी. आर. पद्मश्री एवं सुश्री आमिला दमयन्ती, संस्कार भारती के प्रदेश संगठन मंत्री श्री गिरीश मिश्र व कला कुंज भारती पत्रिका के सम्पादक श्री पद्मकान्त शर्मा के अलावा अनेक गणमान्य अतिथि उपस्थित रहे।
शिविर एवं कार्यशाला के शुभारम्भ कार्यक्रम का संचालन राज्य ललित कला अकादमी के सचिव, डाॅ0 यशवन्त सिंह राठौर ने किया। उन्होंने कहा कि इस चित्रकार शिविर एवं कार्यशाला में रामायण पर आधारित चित्रों का सृजन होगा और इसके फलस्वरूप अयोध्या में दीपोत्सव के अवसर पर लगने वाली प्रदर्शनी हेतु 30 चित्र दोनों संस्थानों को संयुक्त रूप से प्राप्त होंगे।

Facebook Comments