‘मेरी कोशिश हर प्रतियोगिता में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन: अनीश भानवाल

नई दिल्ली: अपने पहले राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाले भारतीय युवा निशानेबाज अनीश भानवाल ने कहा है कि हर प्रतियोगिता की तरह एशियाई खेलों में भी उनकी कोशिश अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने की है। अनीश ने अप्रैल में ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में हुए राष्ट्रमंडल खेलों के 21वें संस्करण में पुरुषों की 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल स्पर्धा के फाइनल में स्वर्ण पदक जीता था। उन्होंने इसी स्पर्धा में राष्ट्रमंडल खेलों का नया रिकॉर्ड भी कायम किया था।

युवा निशानेबाज अनीश के सामने अब राष्ट्रमंडल खेलों के प्रदर्शन को इंडोनेशिया के जकार्ता में 18 अगस्त से दो सितंबर तक होने वाले 18वें एशियाई खेलों में भी दोहराने की चुनौती है और वे इसके लिए पूरी तरह से तैयार हैं। अनीश ने यहां एशियाई खेलों के लिए 572 सदस्यीय भारतीय दल के आधिकारिक विदाई समारोह से इतर आईएएनएस से बातचीत में कहा कि उनकी कोशिश हर प्रतियोगिता में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने की रहती है।

उन्होंने कहा, मेरी कोशिश हर प्रतियोगिता में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन देने की होती है और एशियाई खेलों के लिए भी मेरी अच्छी तैयारी है। जब मैं अच्छा प्रदर्शन करूंगा तो निश्चित रूप से मैं पदक जीतूंगा। युवा निशानेबाज ने राष्ट्रमंडल खेलों के फाइनल में कुल 30 अंक हासिल किए थे। उन्होंने 2014 में ग्लासगो में आयोजित 20वें राष्ट्रमंडल खेलों में ऑस्ट्रेलिया के डेविड चापमान का रिकॉर्ड तोड़ा। उन्होंने 23 अंक हासिल किए थे।

15 साल के अनीश ने कहा, राष्ट्रमंडल खेलों से पहले भी मेरी ट्रेनिंग अच्छी थी और अब भी है। गोल्ड कोस्ट में मेरा ध्यान पदक पर ना होकर अपने प्रदर्शन पर था क्योंकि वो मेरा पहला राष्ट्रमंडल खेल था। ठीक उसी तरह, यह मेरा पहला एशियाई खेल है और इसमें पदक से ज्यादा मेरा ध्यान अपना सर्वश्रेष्ठ देने पर है।

Facebook Comments